रविचंद्रन अश्विन का खुलासा: धोनी को पहले साल तक मेरे बारे में पता नहीं था

1 min read

रविचंद्रन अश्विन ने हाल ही में रेवस्पोर्ट्ज़ के एडिटर-इन-चीफ बोरिया मजूमदार के साथ एक विशेष इंटरव्यू में अपनी संघर्षपूर्ण यात्रा के बारे में खुलासा किया। उन्होंने बताया कि जब उन्होंने पहली बार टीम इंडिया में जगह बनाई, तो पहले साल महेंद्र सिंह धोनी ने उन्हें पहचाना तक नहीं। अश्विन ने कहा, “धोनी को शायद पता भी नहीं था कि मैं टीम में हूं।”

रविचंद्रन अश्विन,

टीम इंडिया में शामिल होने की कहानी

अश्विन ने 2009 में चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के साथ अपने आईपीएल करियर की शुरुआत की। 2010 में, उन्होंने अपनी प्रभावशाली प्रदर्शन के कारण टीम इंडिया में जगह बनाई। अश्विन ने बताया, “दो साल (2009-2011) के बीच, मैंने सपने देखे और उन सपनों को हकीकत में बदलने के लिए बहुत मेहनत की।”

आईपीएल के शुरुआती दिन

अश्विन ने याद किया कि कैसे धोनी ने उन्हें टीम में पहली बार मौका दिया। उन्होंने कहा, “2010 में, एक मैच के दौरान धोनी को चोट लगी और सुरेश रैना ने टीम की कप्तानी संभाली। जब धोनी वापसी आए, तो उन्होंने मुझे फिर से नई गेंद से गेंदबाजी करने का मौका दिया।”

रविचंद्रन अश्विन को धोनी की सलाह

धोनी ने अश्विन को हमेशा नई चीजें आज़माने के लिए प्रोत्साहित किया। अश्विन ने कहा, “धोनी ने मुझसे कहा, ‘तुम्हारी सबसे बड़ी ताकत नई चीजें आज़माना है, इसे कभी मत बदलो।’ यही सलाह उन्होंने मुझे 15 साल पहले दी थी और आज भी वही कहते हैं।”

ये भी पढ़ें : अभिषेक शर्मा का धमाकेदार शतक: “उधार लिए बल्ले” को दिया श्रेय

कैरम बॉल की कहानी

अश्विन ने बताया कि उन्होंने टेनिस बॉल क्रिकेट खेलते हुए करम बॉल की खोज की। उनके पिता को यह खेल पसंद नहीं था, लेकिन जब उन्होंने अजंता मेंडिस को करम बॉल का इस्तेमाल करते देखा, तो उन्होंने अश्विन को भी इसे आजमाने के लिए कहा।

प्यार की कहानी

अश्विन ने अपनी पत्नी प्रीथि के साथ अपने प्यार की कहानी भी साझा की। उन्होंने कहा, “मेरी ज़िंदगी 2008 से 2011 के बीच बहुत तेज़ी से बदली। मैंने दो आईपीएल, एक वर्ल्ड कप और दो चैंपियंस लीग ट्रॉफी जीतीं। इस बीच मैंने अपनी पहली मोहब्बत से शादी भी की।”

किताब का दूसरा भाग

अश्विन ने अपनी किताब ‘आई हैव द स्ट्रीट्स; ए कुट्टी क्रिकेट स्टोरी’ के दूसरे भाग की घोषणा की। उन्होंने कहा, “मैंने इस किताब को 2020-21 में लिखना शुरू किया और इसे बहुत ही ईमानदारी और सच्चाई से लिखा।” इस किताब में उन्होंने अपने जीवन के संघर्षों और अनुभवों को साझा किया है।

क्रिकेट से जुड़ी ऐसी ही खबरों के लिए – 👉
क्रिकेट से जुड़ी ऐसी ही खबरों के लिए – 👉

निष्कर्ष

आशा करते हैं की आपको हमारा पोस्ट अच्छा लगा होगा , तो प्लीज इस पोस्ट को अपने दोस्तों को शेयर करें. 👇

Leave a Comment

cricketalk.co.in

Contact

भारत

cricketalk247@gmail.com